Arnab Goswami Leak WhatsApp chat explained

कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्योरिटी अफेयर्स (CCS) में PM, गृहमंत्री, रक्षामंत्री और वित्तमंत्री होता है..इन चारों को गिरफ्तार करो और कस्टडी में पूछताछ की जाए..साथ मे रिपब्लिक का अर्नब भी गिरफ्तार हो..गिरफ्तारी के लिए अर्नब के व्हाट्सएप चैट का आधार काफी है..

● व्हाट्सएप चैट से पता चलता है कि पुलवामा और भारत का बालाकोट पर अटैक एक "Preplanned Event" था..पुलवामा हमला 14 फरवरी 2019 को दोपहर 3.30 मिनिट पर हुआ था..

● और अर्नब के चैट की टाइमिंग है 14 फरवरी 2019, 4.19 PM से 5.45 PM तक की..अर्नब बोल रहा है कि हमला रिपोर्टिंग में रिपब्लिक 20 मिनिट सबसे आगे है..यानी हमले की खबर अर्नब को सबसे पहले आई..

◆ अर्नब कहता है कि उसने पुलवामा हमले को जबरदस्त सफल बनाया है..इस बात में PM मोदी का रेफेरेंस भी है..क्या मोदी, अर्नब मिल कर भारतीय जवानों के खून का उत्सव मना रहे थे..

◆ भारत ने बालाकोट पर तथाकथित हमला 26 फरवरी 2019 को किया था..पर 23 फरवरी 2019 की चैट में अर्नब बालाकोट हमले की बात कर रहा है..अर्नब के पास सेना का सीक्रेट कैसे आया?

★ अर्नब साफ बोल रहा है कि पुलवामा/बालाकोट के कारण बीजेपी की जय तय है..यानी पुलवामा और बालाकोट बीजेपी की चुनावी जीत का कार्यक्रम था?

★ चैट से साफ पता चलता है की मोदी और PMO में अर्नब के गहरे रिश्ते है..अर्नब BARC के पार्थो दासगुप्ता को मोदी की सहायता का पूर्ण आश्वाशन देता है..मोदी क्या अर्नब का नौकर है? अर्नब कैसे ऐसा बोल सकता है?

👉 अर्नब बोल रहा है कि वो मोदी से गुरुवार को मिलेगा..14 फरवरी 2019 को भी गुरुवार ही था..यानी अगले गुरुवार 21 फरवरी 2019..इसका रिकॉर्ड तो PMO से आसानी से निकल सकता है..

🙏 चैट बहुत बड़ी है..पर एक बात तय है : "संघी खूनी इतिहास" में मोदी का नाम अमर हो गया..देश के साथ आजादी की लड़ाई के बाद ये सबसे बड़ी गद्दारी, धोखा, बेईमानी और देशद्रोह है..

आज सब चूप है..पर गांधी और सेना के हत्यारों याद रखना, वो वक्त ज्यादा दूर नही जब तुम देश के दुश्मनों की हलक में हाथ डाल कर सच उगलवाया जाएगा..ये मीडिया नही आतंकी है..ये सरकार नही, जवानों के हत्यारे है..